Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2018

1 औषधीय गुणों से भरपूर है लहसुन और प्याज़

web - gsirg.com

औषधीय गुणों से भरपूर है लहसुन और प्याज़

 लहसुन,प्याज औषधीय गुणों से भरपूर आयुर्वेद में अमृत तुल्य है।लेकिन इसे तामसी पदार्थ कहा गया है।हमारे हिन्दू धर्म ग्रंथों में इसका प्रयोग निषेध है।पौराणिक कथाओं के अनुसार एक कथा हैकि जब राहु-केतु नामक राक्षसों ने वेष बदल कर अमृत कंठस्थ करनें में सफलता प्राप्त कर ली थी।परन्तु उदरस्थ नहीं कर सके भगवान विष्णु नें चक्र सुदर्शन से सिर काट दिए परिणामस्वरूप अमृत की जो दो बूंदें पृथ्वी पर गिरीं एक प्याज दूसरी लहसुन बनीं यहींकारण हैकि आयुर्वेद में इसे अमृत गुणों के कारण अमृत को ही अमृत कहा गया है।राक्षसों जूठे हो जाने के कारण तामसी गुणो का समावेश स्यमेव ही हो गया इसी कारण इसे हिन्दू धर्म ग्रंथों में इसे त्याज्य कहा गया है।यह शाकाहारी, मांसाहारी दोनों लोगों के सेवन के कारण ही प्याज दुनिया की सबसे ज्यादा खपत होने वाली सब्जी का दर्जा प्राप्त है।आज भी हिन्दू साधु,संतों तथा जैनियों में इसका औषधीय गुणों से भरपूर होनें के बावजूद भी त्याज्य है।
प्रमोद कुमार दीक्षित, सेहगों, रायबरेली।
धन्यवाद 
web - gsirg.com

1 जहरीली सब्जियां और फल

web - gsirg.com
जहरीली सब्जियां और फल 
आजकल बाजार में इन्जेक्शन युक्त जहरीली सब्जियां प्रायःसभी बाजारों में बेंची जा रही हैं।खतरनाक रसायनों के प्रयोग से रातोरात कच्चे फलों को पकाकर बाजारों में बेंचा जा रहा है।रात को 4इन्च की लौकी में आक्सीटोसिन या पिट्यूटरीन इन्जेक्शन की एक बूंद लगाकर एक हाथ की लौकी बनाकर बाजारों में बेंची जा रही है।यह सब्जियां जहरीली एवं स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं।
इसी प्रकार खतरनाक रसायनों के प्रयोग से पकाये फल जिन्हें हम स्वास्थ्य के लाभदायक मानकर खातें हैं।वास्तव में स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक हैं।अगर जहर कहा जाय तो अतिशयोक्ति नहीं होगी।बाजारों में ऐसे खतरनाक एवं स्वास्थ्य के हानिकारक फलों व सब्जियों का बाजार में प्रवेश निषेध कर देना चाहिए।ऐसे किसानों को दण्डित भी करना चाहिए ताकि मानव मूल्यों से खिलवाड़ न कर सकें।
प्रमोद कुमार दीक्षित, सेहगों, रायबरेली 
धन्यवाद                                                        web - gsirg.com