Skip to main content

安倍晉三;日本的偉人

  gsirg.com



                     安倍晉三;日本的偉人

       

        每當人們肯定會想了解日本的歷史或一直在研究日本的歷史描述他作為國家的大師|正如我們證明Jitakr,事實上,一年前,多數採取了他們在人投票的國家今天談論他們|選舉時,他們收到的威脅來自朝鮮的古怪和瘋狂的獨裁者“金正云”,但她並不害怕這些威脅|他們將這些威脅排除在外。日本人民通過給予他們絕大多數來贏得獎項。這樣可以不再被視為強軍為他的國家修改憲法第和平條款|

            一個有能力做出大膽決定的人

      目前,一個艱難的決定令人震驚的能力,安倍季節性大膽的決定安倍晉競爭者日本首相和總理選舉|他的決定是非常正確的,取得了選舉結果,其中有三分之二的多數派聯盟與他們的結果|在選舉期間,他被懷疑受到朝鮮獨裁者導彈襲擊威脅的威脅。這些危害之間的這些民調結果簡直是太重要了,但亞太地區,日本|這為這一領域提供了新的戰略。

          \還拿了他的下院在2014年的全項,其中已經找到了成功之前選擇了冒險選舉|但這次情況有所不同。原因是兩個月前朝鮮進行了導彈試驗。導彈墜入海中,在經過北海道Ddhip日本,此外還金正日威脅說,他將在日本的海洋淹沒|也可以理解,日本是美國的合作夥伴。由於朝鮮獨裁者將美國視為敵人,這就是他威脅日本的原因。此外,日本和朝鮮之間的廣島和長崎的第二次世界大戰期間,核轟炸的破壞是這些威脅的原因|但是,從那時起,日本就是一個和平的國家。但這些威脅引發了一場新的辯論。這就是為什麼安倍晉三在這些選舉中佔多數的原因。投機AISI也有人提出,也許現在是日本政府可能會解決修改該國的a和平[反戰]憲法,並能加強該國在軍事上作為| ,但對此沒有具體決定或不能說。然後有很多原因。這些原因,日本將從和平主義地位和相當過早的政策望而卻步首席|從經濟改革的角度來看,這一勝利很重要。此次勝利後,日本股指已經達到最高水平。

       安勝安倍印度也是該國及其總理重要|其原因是這一時期兩國之間的互動加劇了。了解安倍可以改變日本的情況會非常有趣。這種興趣的原因將是貨幣慷慨,財政激勵和結構結構。

Comments

Popular posts from this blog

[ q/9 ] Tratamentul; O alternativă unică la sterilizare

web - gsirg.com

 Tratamentul; O alternativă unică la sterilizare

 Fiecare creatură din lume care a venit în această lume, el a câștigat definitiv copilarie, adolescenta, maturitate si batranete | Dintre acestea, dacă părăsim copilăria, atunci în fiecare etapă a vieții, fiecare creatură suferă de dorința sexuală. Cu excepția unui om determinat generație apel la alte creaturi, dar omul este o ființă care, în 12 luni ale anului, 365 de zile, 24 de ore, poate cicălitoare sex în orice moment | Cea mai dificilă sarcină a ființelor umane în această lume este să câștige "Cupid". Fiecare bărbat și femeie din această lume este absorbit de toți muncitorii și începe să facă nenorociri teribile în această lume. Se estimează că doar 70% din criminalitatea mondială este legată de acest lucru.


 Libido o tulburare puternică


  Cauza nașterii diferitelor tipuri de infracțiuni este dorința. Femeile și bărbații care suferă de această dorință sexuală nu ezită să facă diferite tipuri de crime în ac…

कबिरा शिक्षा जगत् मा भाँति भाँति के लोग।।भाग दो।।

प्रिय पाठक गणों आपने " कबीरा शिक्षा जगत मां भाँति भाँति के लोग ( भाग-एक ) में पढ़ा कि श्रीमती रामदुलारी तालुकेदारिया इण्टर कालेज सेंहगौ रायबरेली की प्रधानाचार्या, प्रबंधक, लिपिकों आदि के द्वारा किस प्रकार शिक्षा सत्र 2015--16 तथा शिक्षा सत्र2014--15 मे किस प्रकार लगभग उन्यासी छात्रों को फर्जी ढ़ंग से प्रवेश दिलाया गया । बाद मे इन्हीं छात्रों को अगले वर्ष इण्टर कक्षा की परीक्षा दिला दी गई। इसके लिए फर्जी कक्षा 12ब3 बनाई गई। बाकायदा फर्जी छात्रों का उपस्थिति रजिस्टर भी बनाया गया। परन्तु सभी छात्रों से प्रथम तथा द्वितीय वर्ष की कक्षाओं मे निर्धारित विद्यालय फीस लेने के बावजूद भी इसका विद्यालय के रजिस्टर पर इन्दराज नही किया गया। यह अनुमानित फीस लगभग साढ़े चार लाख रुपये के आसपास थी जिसे उपरोक्त अधिकारियों / विद्यालय के शिक्षा माफियाओं द्वारा अपहृत / गवन कर लिया hi गया। यथोचित कार्रवाई हेतु इस सम्पूर्ण विवरण को प्रार्थना पत्र मे लिखकर अपर सचिव के क्षेत्रीय कार्यालय इलाहाबाद को दिनाँक 25 /05 2016 को भेजा गया।
अब हम आपको इसके शर्मनाक पात्रों का परिचय करवा देते हैं।
       😢शर्मनाक…

पुराने बीजो का संरक्षण

नये खाद्यान्न बीजों या शंकर बीजों के आगमन के साथ खाद्यान्नों का उत्पादन अवश्य बढ़ा है।जिसके लिए हमारे कृषि वैज्ञानिक अवश्य ही बधाई के हकदार हैं।आज हम सवा अरब से अधिक लोगों को भरपेट भोजन देनें के अलावा निर्यात भी कर रहे हैं।जिस कारण हमें अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अधिक अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष प्राप्त हो रहा है।लेकिन भारतीय किसानों द्वारा अन्धाधुंध यूरिया और अन्य उर्वरकों तथा कीटनाशकों के प्रयोग के कारण कुछ देशों का बासमती चावल के आर्डर वापस लेना पड़ा है।जिसके कारण हमें अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर शर्मिंदगी उठानी पड़ी है।जो अवश्य ही चिन्ता का विषय है।कृषि वैज्ञानिकों द्वारा मृदा जांच द्वारा किसानों को प्रशिक्षित कर आवश्यक रसायनों के प्रयोगों के लिए किसानों को प्रशिक्षित किए जानें की आवश्यकता है।     हमारे पुराने जमाने के किसानों द्वारा पुराने बीजों एवं गोबर की खाद तथा खली से उत्पादित खाद्यान्नों एवं सब्जियों में जो गजब का स्वाद एवं सुगंध मिलती थी वह अब नये बीजों एवं उर्वरकों एवं कीटनाशकों से उत्पादित खाद्यान्नों एवं सब्जियों में नहीं पाई जाती है।वह स्वाद,सोंधापन, सुगंध अब धीरे-धीरे गायब होती …